हाइब्रिड कंप्यूटर क्या है

हाइब्रिड कंप्यूटर विशेष प्रकार के कंप्यूटर होते हैं, जिनमें डिजिटल कंप्यूटर और एनालॉग कंप्यूटर दोनों का मिश्रण होता है।

इन कंप्यूटरों का मुख्य उद्देश्य अत्यंत जटिल गणनाओं को हल करना है।

हाइब्रिड कंप्यूटर इनपुट के रूप में एनालॉग और डिजिटल दोनों सिग्नल ले सकते हैं और आउटपुट के रूप में दोनों सिग्नल दे सकते हैं।

हाइब्रिड कंप्यूटर अधिक सटीकता और तेजी से परिणाम देने में सक्षम हैं।

हाईब्रिड कंप्यूटर का उपयोग एक विशिष्ट प्रकार के कार्य के लिए किया जाता है, इनका उपयोग व्यक्तिगत उपयोग के लिए नहीं किया जाता है।

ये कंप्यूटर अन्य कंप्यूटरों की तुलना में बहुत महंगे होते हैं।

दुनिया का पहला हाइब्रिड कंप्यूटर हाइकॉम 250 था, जिसे 1961 में पैकार्ड बेल ने बनाया था। इसके बाद HYDAC 2400 नाम का दूसरा हाइब्रिड कंप्यूटर 1963 में आया।