लगने जा रहा है साल का पहला सूर्य ग्रहण

विज्ञान और ज्योतिष दोनों में सूर्य ग्रहण को महत्वपूर्ण माना गया है। 

साल का पहला सूर्य ग्रहण 20 अप्रैल को लगने वाला है। जानते है सूतक काल का समय और इसका प्रभाव।

ग्रहण एक महत्वपूर्ण खगोलिय घटना है। ज्योतिष शास्त्र में भी ग्रहण को विशेष महत्व दिया गया है। 

धार्मिक रूप से सूर्यग्रहण को शुभ घटना नहीं माना जाता है क्योंकि यह वह समय होता है जब सूर्य के ऊपर राहु का प्रभाव बढ़ जाता है और सूरज ग्रसित हो जाता ह। 

2023 का पहला सूर्य ग्रहण 20 अप्रैल, गुरुवार के दिन लगने जा रहा है। 

यह ग्रहण इस दिन सुबह 7.04 बजे से दोपहर 12.29 मिनट तक लगेगा।  

साल का पहला ग्रहण मेष राशि और अश्विनी नक्षत्र में घटित होगा। 

ये ग्रहण कंबोडिया, चीन, अमेरिका,सिंगापुर, थाईलैंड, अंटार्कटिका, ऑस्ट्रेलिया, वियतनाम, ताइवान, पापुआ न्यू गिनी, इंडोनेशिया, फिलीपींस, दक्षिण हिंद महासागर और न्यूजीलैंड में दिखाई देगा। 

भारत में यह ग्रहण नहीं दिखाई देगा। भारत में ना दिखाई देने की वजह से यहां इसका सूतक काल भी नहीं माना जाएगा।