कुत्ते की ये आदतें कर देगी बेड़ा पार 

चाणक्य नीति के अनुसार कुत्ते में संतुष्ट भाव होते हैं। जब कुत्ता भूखा होता है तब उसे जो मिल जाए, वह उसी से संतुष्ट हो जाता है।

कुत्ता थोड़े में ही खुश हो जाता है। मनुष्य को भी इसी आदत को अपनाना चाहिए। किसी भी चीज की ज्यादा लालच होने पर जीवन अशांत हो जाता है।

नींद पर स्वयं का नियंत्रण - कुत्ता कितनी भी घरी नींद में हो लेकिन हल्की सी आहट से भी उठ जाता है या चौकन्ना हो जाता है।

चाणक्य नीति के अनुसार कुत्ते के समान नींद होने पर आप हमेशा सतर्क रहेंगे और सुरक्षित भी रहेंगे।

निडर बने - कुत्ता एक ऐसा जानवर हैं जो निडरता के साथ अपने मालिक के लिए लड़ सकता है। 

अपने मालिक की सुरक्षा के लिए कुत्ता हर मुसीबत का डटकर मुकाबला करता है।

मनुष्य को कुत्ते से यह गुण जरूर सीखना चाहिए और हर मुसीबत का डटकर सामना करना चाहिए।

वफादार रहें - कुत्ते को जानवरों में सबसे ज्यादा वफादार माना जाता है। मनुष्य को भी कुत्ते से वफादार और निष्ठावान बनने के गुण सीखना चाहिए। 

अपने जीवन में निष्ठावान रहने से हर काम में जल्द सफलता मिलेगी और आप उनपर जल्द भरोसा भी करेंगे।